मानवाधिकारों की रक्षा पर मुख्यमंत्री का बल


Uttarakhand News, Dehradun - उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत ने विश्व मानव अधिकार दिवस के उपलक्ष्य पर मुख्यमंत्री कार्यालय द्वारा जारी एक विज्ञप्ति के माध्यम से जनता को दिए संदेश में कहा है कि लोकतंत्र में मानवाधिकारों की रक्षा करना सबसे ज्यादा जरूरी होता है।

अपने संदेश में मान्नीय मुख्यमंत्री ने आगे इस बात पर जोर दिया है कि हर इन्सान को सिर उठाकर जीने का पूरा हक है। आजादी और सबको एक नज़र से देखना, मानवाधिकार का अटूट अंग हैं।

श्री रावत ने कहा कि भारत के संविधान में भी नागरिकों को जीवन रक्षा के साथ-साथ समानता और अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता प्रदान की गई है।

उन्होंने कहा कि हस सबको वसुधैव कुटुम्बकम की भारतीय परंपरा का पालन करना चाहिए और जाति, संप्रदाय और धर्म से ऊपर उठकर मानव कल्याण के लिए काम करना चाहिए। विश्व के वर्तमान परिवेश में मानव अधिकारों के प्रति जागरुक रहना अज और भी ज्यादा प्रासंगिक हो गया है।

इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने जनता का आह्वान भी किया है कि वह आपसी भेदभाव को खत्म करके एक आदर्श समाज का निर्माण करने में अपना अमूल्य योगदान दे। उन्होंने कर्तव्यों का पालन करने पर भी ज़ोर दिया।

Comments

Popular posts from this blog

उत्तराखंड के मनीष बने जूनियर कराटे चैंपियन

कांग्रेस और भाजपा,दोनों ने उत्तराखंडियों को बनाया अप्रैल फूल

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने प्रवासियों से कहा - घर लौट आओ प्लीज