Sitemap

Wednesday, February 18, 2015

गढ़वाल भवन का प्रथम तल सील

Uttarakhand News - सबसे पहले अनिल कुमार पंत जी ने मुझे सूचित किया था कि दिल्ली में पंचकुइंया मार्ग पर स्थित गढ़वाल भवन की पहली मंजिल को NDMC ने सील कर दिया है। आमतौर पर चुपचाप अपना काम करने वाले धीर-गंभीर पंत जी उस दिन काफी उत्साहित थे। यह स्वाभाविक ही है, क्योंकि वे उन कुछ गिने-चुने लोगों में से एक हैं, जो निस्वार्थ भाव से गढ़वाल हितैषिणी सभा के काम में जुटे रहते हैं और लाइम-लाइट से दूर रहते हैं। उन्होंने हिमालयन न्यूज एक का लिंक भी भेजा था और कहा था कि मैं इस न्यूज को ज़रूर लगाऊं, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों तक यह समाचार पहुंच सके। व्यस्तता के चलते मैं उस दिन इसे नहीं लगा सका, इसलिए, देर से ही सही, पर आज लगा रहा हूं।
हिमालयन न्यूज में प्रकाशित समाचार - “दिल्ली के गढ़वाल भवन की पहली मंजिल को NDMC ने सील कर दिया है। 2008 से इस मंजिल पर किरायदार के जरिये किराया नहीं दिए जाने की वजह से NDMC ने इसे सील किया है। इस फैसले का गढ़वाल भवन से जुड़े लोगों ने स्वागत किया है। किरायदार पर इस मंजिल पर अवैध तरीके से कब्जा करने का आरोप है। कब्जे को लेकर उत्तराखंड समाज और किरायदार के बीच काफी लम्बे समय से विवाद चल रहा था। जिसमें दिल्ली के सभी सामाजिक संगठनों ने उत्तराखंड समाज को अपना समर्थन दिया। NDMC के इस फैसले के बाद सामाजिक संगठनों ने खुशी जताई है।”
Anil Kumar Pant
वैसे यहां मैं यह भी स्पष्ट कर देना चाहता हूं कि अभी हम यह नहीं कह सकते कि NDMC के इस कदम से मामला खत्म हो गया है और किराएदार ने जगह छोड़ दी है, पर जो लोग गढ़वाल भवन की तरफ से किराएदार के खिलाफ लंबी कानूनी लड़ाई लड़ रहे थे, उनके हाथ एक बड़ी सफलता तो लगी ही है।

No comments:

Post a Comment