उत्तराखंड के 'मां, माटी और मिशन' की 'अपणू दगै भेंट'

Uttarakhand News -  उत्तराखंड का "मां, माटी और मिशन" एक अत्यंत महत्वाकांक्षी आंदोलन प्रतीत होता है, जिसके द्वारा भुवन जोशी "भास्कर" और पूरन घुघत्याल "प्रेम" राज्य का चेहरा बदल देना चाहते हैं। हममें से बहुत से लोगों ने "मां, माटी और मिशन" के बारे में पहले भी पढ़ा और सुना होगा। कुछ ने इसे उन हजारों संगठनों में से एक समझा होगा, जो हर रोज जन्म लेते हैं और कुछ समय बाद असमय ही दम तोड़ देते हैं, पर ज्यादातर लोगों का मानना है कि "मां, माटी और मिशन" कुछ हटकर है और इससे जुड़े लोगों में कुछ कर गुज़रने का जुनून है।


यह जुनून भुवन जोशी और पूरन घुघत्याल को सही दिशा में आगे बढ़ने का उत्साह प्रदान करता है। इन लोगों से बात करते वक्त ही लगता है कि ये लोग अभूतपूर्व ऊर्जा से भरे हुए हैं और यही ऊर्जा है, जिसकी वजह से कुछ महीने पूर्व संगठन के कार्यकर्ताओं ने मुझे लगभग राज़ी कर लिया था कि मैं दिल्ली से रामनगर जाकर उनकी बैठक में शामिल होऊं। मेरा मानना है कि उत्तराखंड की भलाई के लिए "मां, माटी और मिशन"  के बैनर तले कुछ-न-कुछ सकारात्मक काम ज़रूर किये जाएंगे।

आपका यह प्रश्न करना स्वाभाविक ही है कि आखिर जिसकी मैं इतनी तारीफ कर रहा हूं, उस संगठन का मिशन क्या है। संगठन ने दावा किया है कि वह निम्न उद्देश्यों के लिए समर्पित है:--

1. महिलाओं की पूर्ण सुरक्षा
2. गाय माता का पूर्ण संरक्षण और गाय माता को राष्ट्रमाता घोषित करवाना
3. उत्तराखंड सरकार से यह मांग करना कि वह किसानों को खेती के लिए सहायता उपलब्ध कराए
4. उत्तराखंड से पलायन रोकने और स्थानीय युवाओं को अपने राज्य में ही रोज़गार दिलाने की दिशा में काम करना
5. भ्रष्टाचार मुक्त उत्तराखंड
6. नशा मुक्त उत्तराखंड

स्पष्ट है कि उद्देश्य पवित्र हैं और उत्तराखंड व उत्तराखंडियों का हित ही उनके केंद्र में है। तो अगर आपको भी लगता है कि ऐसे संगठन अपने उद्देश्य में सफल हों, तो मेरा मानना है कि आपको अपनी उपस्थिति दर्ज करवाकर उनका मनोबल ज़रूर बढ़ाना चाहिए।

कार्यक्रम का स्थान है -- गढ़वाल भवन, , वीर चंद्रसिंह गढ़वाली चौक, पंचकुइयां रोड, नई दिल्ली

कार्यक्रम 26 अप्रैल को सुबह 10 बजे से है।

तो रविवार के दिन उत्तराखंड की भलाई की इच्छा रखने वालों का समर्थन करने मैं गढ़वाल भवन समय पर पहुंच जाउंगा।

Comments

Popular posts from this blog

उत्तराखंड के मनीष बने जूनियर कराटे चैंपियन

कांग्रेस और भाजपा,दोनों ने उत्तराखंडियों को बनाया अप्रैल फूल

उत्तराखंड के मुख्यमंत्री ने प्रवासियों से कहा - घर लौट आओ प्लीज