Posts

Showing posts with the label Sports

उत्तराखंड के मनीष बने जूनियर कराटे चैंपियन

उत्तराखंड के एक नौनिहाल ने कराटे की जूनियर वर्ग की प्रतियोगिता में सोने का तमगा जीतकर इस बात पर फिर से मोहर लगा दी है कि इस पर्वतीय राज्य में प्रतिभा की कमी नहीं है। उत्तराखंड की टीम भले ही 12 वें स्थान पर रही हो, मगर मनीष बिष्ट ने स्वर्ण पदक जीतकर हमारा सीना गर्व से चौड़ा कर दिया। उत्तराखंड की टीम ने  कुल 11 पदक जीते, जिनमें एक स्वर्ण, दो रजत और 8 कांस्य पदक शामिल हैं। इस प्रतियोगिता का आयोजन पतंजलि योगपीठ के श्रद्धालयम सभागार में किया गया। ऑल इंडिया कराटे-डू फेडरेशन की ओर से आयोजित इस तीन दिवसीय राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप के समापन समारोह में पतंजलि योगपीठ के महामंत्री आचार्य बालकृष्ण ने मुख्य अतिथि के रूप में मौजूद लोगों को संबोधित किया। उन्होंने युवा पीढ़ी को योग का महत्व समझाया और कहा कि ध्यान करने से एकाग्रता बढ़ती है। 29वीं राष्ट्रीय कराटे चैंपियनशिप में 61 पदक जीतकर मध्यप्रदेश ने पहला स्थान कब्ज़ाया, तो 39 पदक जीतकर राजस्थान दूसरे स्थान पर रही, जबकि18 पद जीतकर महाराष्ट्र ने चौथा स्थान हासिल किया।

उत्तराखंड का सर्वश्रेष्ठ खिलाड़ी कौन - धोनी या जसपाल राणा

Uttarakhand News, New Delhi - जसपाल राणा और महेंद्र सिंह धोनी, दोनों ही भारत के विश्व विजेता खिलाड़ी रहे हैं। दोनी ही की गिनती हमेशा भारत के महानतम खिलाड़ियों में की जाएगी। लेकिन हमारा प्रश्न यह है कि इन दोनों में से किस खिलाड़ी की गिनती उत्तराखंड के महानतम खिलाड़ी के रूप में होनी चाहिए? महेंद्र सिंह धोनी निर्विवाद रूप से उत्तराखंड मूल के सर्वाधिक लोकप्रिय खिलाड़ी हैं। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा कर दी है, जिससे एक अत्यंत सफल व गौरवशाली क्रिकेटर का टेस्ट सफर का अंत हो गया है। एकदिवसीय और टी-ट्वेंटी क्रिकेट में उनका सफर फिलहाल जारी रहेगा। धोनी की गिनती केवल भारत ही नहीं, बल्कि दुनिया के सर्वाधिक सफल कप्तानों में की जाएगी। भारत में तो कोई अन्य कप्तान उनके आसपास भी नजर नहीं आता। भारत के लिए धोनी ने सबसे ज्यादा 60 टेस्ट मैचों में कप्तानी की और उनमें से 27 में हमें विजयी बनाया। उनके बाद सबसे ज्यादा 21 टेस्ट मैच गांगुली ने भारत के लिए जीते। धोनी की कुछ सबसे बड़ी सफलताओं में से एक है कभी हार ने मानने वाली ऑस्ट्रेलियाई टीम को चार टेस्ट मैचों की श्रृंखला में 4-0 से धो डालना।